SHOWMANSHIP

राम मंदिर को लेकर भाजपा में पिछले कल दिल्ली में एक उच्च स्तरीय मीटिंग हुई। मीटिंग में यह तय हुआ कि किस तरह से राम लला की मूर्ति का प्रतिष्ठा होगी और कैसे इसे सम्भव बनाया जाएगा। इसके साथ ये भी ध्यान में रखा जाएगा कि किस तरह से लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुये ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंच बनाई जा सके। कहा जा रहा है कि मंदिर को लेकर 1989 वाला प्लान बनाने का तैयारियां की जाएँगी। इसलिए राममंदिर के शिलान्यास के अभियान चालू है। आपको बता दें कि घर घसे ईंटे लेन का काम शुरू हो गया है और अब तक दो लाख ईंट लायी जा चुकी है , राम रथ यात्रा के अलावा ये भी एक मिशन था जिसे BJP के वोट का संघ परिवार की समाज में पहुँच का एक कारण माना जा रहा है।


आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी जी 22 जनवरी को रामलला कि मूर्ति प्रतिष्ठान करेंगे अयोध्या में , कहा जा रहा है कि भाजपा का पूरा ध्यान राममय माहौल बनाने का है , लाखो दिए इस प्रकार से जलेंगे जैसे सन 1989 अयोध्या मंदिर के लिए ईंट लगी थी , ये भी पता चला है कि तब कि दो लाख ईंटो को भी अयोध्या मंदिर में शामिल किया जाएगा , और भाप ने शिलान्यास के आयोजन को बड़े धूम धाम से चलाया है।

राम मंदिर के मूर्ति प्रतिष्ठा के बाद लोगो को मंदिर के दर्शन करने का तरगेट भी कार्यकर्ताओ को मिल चूका है जिसमे 25 जनवरी से 25 मार्च तक चलेगा । माना जा रहा है कि लगभग पचास हजार लोग दो माह में अयोध्या आ सकते हैं। इसके अलावा RSS कारकर्ता मंदिर में पूजित अक्षत भी घर घर पहुंचाए जा रहे हैं , इसका अभियान 1 से पांच जनवरी तक होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *