SHOWMANSHIP

2023 में, अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की थीम है “नस्लवाद खत्म करें। शांति बनाएं।

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस हर साल 21 सितंबर को मनाया जाता है। इस दिन को संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित किया गया था, और इसका उद्देश्य दुनिया भर में शांति और समझ को बढ़ावा देना है।

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस का इतिहास

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की स्थापना 30 सितंबर, 1981 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने की थी। इस प्रस्ताव में, महासभा ने 21 सितंबर को एक वैश्विक युद्धविराम और उस दिन सभी शत्रुताएं समाप्त करने का आह्वान किया।

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस का महत्व

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस एक महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि यह दुनिया भर में शांति और समझ के लिए एक अवसर प्रदान करता है। इस दिन, लोग एक साथ आते हैं और शांति के लिए काम करने का संकल्प लेते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की थीम

2023 में, अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस की थीम है “नस्लवाद खत्म करें। शांति बनाएं।” यह थीम नस्लवाद को खत्म करने और एक अधिक शांतिपूर्ण और समतावादी दुनिया बनाने के लिए कार्रवाई करने के महत्व पर जोर देती है।

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस कैसे मनाया जाता है?

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस को दुनिया भर में कई तरह से मनाया जाता है। कुछ लोग शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शनों में भाग लेते हैं, जबकि अन्य शांति के लिए प्रार्थना या ध्यान करते हैं। कई स्कूल और कॉलेज भी शांति के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

भारत में अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस

भारत में, अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस को कई तरह से मनाया जाता है। कई स्कूल और कॉलेज शांति के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कार्यक्रम आयोजित करते हैं। सरकार भी शांति के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। उदाहरण के लिए, भारत ने 2022 में शांति और संप्रेषण के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव के विशेष दूत के रूप में भारत के पूर्व विदेश सचिव सुजाता सिंह को नियुक्त किया था।

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस का संदेश

अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस का संदेश यह है कि शांति एक ऐसी चीज है जिसे हम सभी के लिए हासिल किया जा सकता है। हमें एक साथ आकर काम करना चाहिए ताकि हम एक ऐसी दुनिया बना सकें जहां सभी लोग शांति और सुरक्षा में रह सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *