SHOWMANSHIP

गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने गुरुवार को अहमदाबाद में विश्व कप मैच के खाली स्टेडियम को ‘असफलता’ करार दिया और टिकट प्रक्रिया में पारदर्शिता की कथित कमी के लिए बीसीसीआई की आलोचना की।

गत विजेता इंग्लैंड और उपविजेता न्यूजीलैंड के बीच नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर वनडे विश्व कप के पहले मैच की शुरूआत के समय बमुश्किल दस हजार दर्शक जुटे और दिन ढलने के साथ भी आंकड़ा 15 से 17 हजार के बीच ही रहा। वर्ल्ड कप ओपनर मैच में इतने कम दर्शकों को पहुंचने पर बीसीसीआई की खूब आलोचना हो रही है। गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी ने गुरुवार को अहमदाबाद में विश्व कप मैच के खाली स्टेडियम को ‘असफलता’ करार दिया और टिकट प्रक्रिया में पारदर्शिता की कथित कमी के लिए बीसीसीआई की आलोचना की। उन्होंने उन रिपोटों का हवाला दिया जिनमें दावा किया गया कि ‘महिला आरक्षण विधेयक पारित होने का जश्न मनाने के लिए भाजपा द्वारा महिलाओं को 40,000 टिकट मुफ्त की पेशकश की गई थी।

मेवाणी ने कहा कि टिकटों की बिक्री सितंबर के पहले सप्ताह तक खत्म हो गई थी और विधेयक इसके बाद पारित हुआ था। उन्होंने लिखा, “अखबारों की रिपोर्टों से पता चलता है कि महिला आरक्षण विधेयक पारित होने का जश्न मनाने के लिए भाजपा द्वारा मैच के लिए महिलाओं को 40,000 टिकट मुफ्त की पेशकश की गई थी। ये 40 हजार टिकट कहां से आए? क्या बीसीसीआई इस तरह से किसी राजनीतिक दल को टिकट आवंटित कर सकता है?” भारतीय क्रिकेट बोर्ड की आलोचन करते हुए मेवाणी ने लिखा, “इससे पता चलता है कि एक सांठगांठ है जिसने क्रिकेट प्रशंसकों को लंबे समय तक अंधेरे में रखा है… मुफ्त टिकट और स्नैक कूपन के बाद भी महिलाएं मैच देखने नहीं आई। स्टेडियम को भरने के लिए उन्हें यहां तक गुमराह किया गया कि यह भारत-पाकिस्तान का मैच है। लेकिन महिलाएं नहीं आई। यहां बीसीसीआई से एक बात कहना चाहूंगा क्रिकेट को जेंटलमैन का गेम बना रहने दें। राजनीति को बंद करें या एक दिन आप क्रिकेट को खतरे में पाएंगे। “

ऐसा लग रहा है जैसे भारत में एक साथ दो विश्व कप होने जा रहे हैं। पहला जिसमें भारतीय टीम खेलेगी और जिसके टिकटों के लिए मारामारी होगी। इतनी कि विराट कोहली तक को इंस्टाग्राम पर लिखना पड़ा कि उनसे कोई टिकट नहीं मांगे और दूसरा अन्य टीमों का जिसमें मैदान खाली पड़े नजर आएंगे। ड्रोन कैमरे से नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम के ऊपर से ली गई फुटेज में बेहद खालीपन नजर आया।

गुजरात क्रिकेट संघ के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें 50 से 60 हजार दर्शकों के आने की उम्मीद थी। ऐसी खबरें हैं कि शहर की 30 से 40 हजार महिलाओं को मुफ्त टिकट दिए गए लेकिन इसके बावजूद सीटें खाली ही रही। कनाडा में रहने वाले विराज शाह ने कहा, “मेरे स्वदेश आने के समय ही विश्व कप शुरू हुआ है। मैने इस मैच की टिकट आनलाइन ली थी लेकिन भारत-पाकिस्तान मैच की नहीं मिली।” लगता है कि शहर को 14 अक्टूबर का इंतजार है जब भारत और पाकिस्तान इसी मैदान पर आमने सामने होंगे।

Read More News Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *