SHOWMANSHIP

दक्षिणी कन्नड़ जिले में मौजूद जिस मस्जिद में नारेबाजी की घटना सामने आई है, उस इलाके की पहचान हिंदू-मुस्लिम सौहार्द के लिए होती है.

Karnataka News: कदबा पुलिस ने इसकी जानकारी दी और बताया कि इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस अधिकारियों ने कहा, मस्जिद के भीतर नारेबाजी की घटना रविवार देर रात 11 बजे सामने आई. दो अज्ञात लोग रात के वक्त मोटरसाइकिल पर आए और वे मरधाला बदरिया जुमा मस्जिद परिसर में घुस गए.

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उन्हें मस्जिद के प्रमुख से शिकायत मिली कि मस्जिद के भीतर ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए गए हैं. इसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाली और दो लोगों को गिरफ्तार किया. आरोपियों की पहचान 26 वर्षीय सचिन राय और 24 वर्षीय कीर्तन पुजारी के तौर पर हुई है. दोनों युवक कदबा तालुका के कायकंबा गांव के रहने वाले हैं. फिलहाल पुलिस इस मामले की तहकीकात में जुटी हुई है.

मुस्लिमों को दी धमकी: पुलिस अधिकारी

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘मस्जिद एक चारदीवारी से घिरी हुई है. कदबा-मरधाला रोड के जंक्शन पर मस्जिद का एक गेट है. 24 सितंबर की रात लगभग 11 बजे दोनों युवक मस्जिद के भीतर घुसे और ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने लगे.’ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोनों युवकों ने मुसलमानों को यहां नहीं रहने देने की धमकी भी दी.

हिंदू-मुस्लिम सौहार्द के लिए जाना जाता है इलाका

मस्जिद के मौलवी और इसके प्रमुख घटना के वक्त अपने ऑफिस में मौजूद थे. जब वे बाहर निकले तो उन्होंने दो अनजान लोगों को मस्जिद से जाते हुए देखा. उन्होंने तुरंत मस्जिद की सीसीटीवी फुटेज को खंगाला. उन्हें मालूम चला कि मस्जिद के सामने सड़क पर एक संदिग्ध कार गुजर रही थी. मस्जिद समिति के सदस्य मोहम्मद फैजल ने कहा कि इस इलाके की पहचान हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच सौहार्दपूर्ण सह-अस्तित्व के लिए होती है. यही वजह है कि दोनों आरोपी इस एकता को बर्दाश्त नहीं कर पाए और उन्होंने सांप्रदायिक नफरत और तनाव पैदा करने की साजिश रची.

कदबा के सब-इंस्पेक्टर अभिनंदन ने कहा कि सोमवार को शिकायत मिलने के बाद हमने आईपीसी की अलग-अलग धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया. इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि वह इस मामले की भी जांच कर रहे हैं कि कहीं ये आरोपी किसी संगठन से तो नहीं जुड़े हुए हैं. सब-इंस्पेक्टर ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपियों ने शराब के नशे में ये हरकत की है. उनका कोई पुराना आपराधिक रिकॉर्ड भी नहीं मिला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *