SHOWMANSHIP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बस्तर जिले के जगदलपुर में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा, वे (कांग्रेस) स्टील प्लांट पर कब्जा करना चाहते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बस्तर जिले के जगदलपुर में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा, वे (कांग्रेस) स्टील प्लांट पर कब्जा करना चाहते हैं. इसके जरिए मोटी कमाई करना चाहते हैं. स्टील प्लांट बस्तर के लोगों का है. उन्होंने कहा, अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकार ने आदिवासियों के लिए अलग मंत्रालय और बजट बनाया. कांग्रेस की तुलना में बीजेपी सरकार 5 गुना ज्यादा बजट देती है.

https://www.instagram.com/showmanship.in/

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले ही प्रचार जोर पकड़ने लगा है. मंगलवार को बस्तर के जगदलपुर में आयोजित जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने बिहार की जातिगत जनगणना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नारे पर भी पलटवार किया. पीएम मोदी ने कहा, कल से कांग्रेस ने एक अलग राग अलापना शुरू कर दिया है. ये कहते हैं जितनी आबादी, उतना हक. मैं कहता हूं इस देश में अगर सबसे बड़ी कोई आबादी है तो वह गरीब है. इसलिए गरीब कल्याण ही मेरा मकसद है.पीएम का कहना था कि कांग्रेस आबादी के हिसाब से हिस्सेदारी की बात करती है. कांग्रेस हिन्दुओं को बांटकर देश को बांटना चाहती है. मेरे लिए सबसे बड़ी जाति गरीब है और मेरी सरकार गरीबों की भलाई में लगी है. चाहे गरीब दलित हो, पिछड़ा हो, अगर गरीब का भला होगा, तो देश का भला होगा.

पीएम ने कहा, मैं सोच रहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह क्या सोच रहे होंगे. वे कहते थे कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार अल्पसंख्यकों का है. उसमें भी मुसलमान का है. लेकिन अब कांग्रेस कह रही है कि आबादी तय करेगी कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार किसका होगा? तो अब क्या वे (कांग्रेस) अल्पसंख्यकों के अधिकारों को कम करना चाहती है? अगर आबादी के हिसाब से ही होने वाला है तो पहला हक किसका होना चाहिए? जरा, कांग्रेस वाले स्पष्टता करें. क्या कांग्रेस, अल्पसंख्यकों को हटाना चाहती है? तो क्या सबसे बड़ी आबादी वाले हिंदुओं को आगे आना चाहिए और अपने सभी अधिकार लेने चाहिए?प्रधानमंत्री ने कहा, मैं दोहरा रहा हूं कि कांग्रेस पार्टी को अब कांग्रेस के लोग के नहीं चला रहे हैं. वरिष्ठ नेता कांग्रेस के लोग मुंह पर ताला लगाकर करके बैठे हैं. ना तो उनको पूछा जाता है, ना ही यह सब देखकर बोलने की हिम्मत करते हैं. अब कांग्रेस को आउटसोर्स कर दिया गया है. कांग्रेस को अब ऐसे लोग चला रहे हैं, परदे के पीछे लोग ऐसे कमाल कर रहे हैं, जो देश विरोधी ताकतों से मिले हुए हैं.

उन्होंने कहा, खदान में से कांग्रेसी जो माल खाते थे, उस पर मोदी ने ताला लगा दिया, इसलिए वो छटपटा रहे हैं. आज भी इन्होंने झूठी बातें फैलाईं, लेकिन इतनी बड़ी संख्या में आपने यहां आकर उन्हें तमाचा मारा है. पीएम ने आज चुनावी राज्य छत्तीसगढ़ में करीब 27,000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का अनावरण किया और परिवर्तन संकल्प रैली को संबोधित किया.

‘आदिवासियों के लिए पांच गुना ज्यादा बजट देते हैं’इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस ने वर्षों तक बस्तर की उपेक्षा की है. उन्होंने कभी लोगों के हितों के बारे में नहीं सोचा. बीजेपी ने यहां कई विकास कार्य किए हैं. कांग्रेस की तुलना में बीजेपी यहां के आदिवासियों के लिए पांच गुना ज्यादा बजट देती है. अगर वो 1 रुपया देते थे, तो हम 5 रुपया देते हैं और अगर वो 100 रुपया देते हैं, तो हम 500 रुपया देते हैं. कांग्रेस ने यहां ‘झूठा प्रचार और घोटालेबाज सरकार’ दी है. छत्तीसगढ़ में विकास या तो कांग्रेस के पोस्टर-बैनर में दिखता है या यहां के नेताओं की तिजोरी में दिखता है. कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ को अगर कुछ दिया है तो वह है- झूठा प्रचार और घोटालेबाज सरकार. इसलिए आज छत्तीसगढ़ के कोने-कोने से आवाज आ रही है- और नहीं साहिबो, बदल के रहिबो (अब और नहीं सहेंगे, बदलकर रहेंगे).

‘छत्तीसगढ़-राजस्थान में चल रही है प्रतिस्पर्धा’

PM ने आगे कहा, बीजेपी सरकार ने ही 15 नवंबर यानी भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिन को जनजातीय दिवस घोषित किया. हमने जनजातीय वर्ग के छात्रों को दी जा रही छात्रवृत्ति को भी ढाई गुना कर दिया है. उन्होंने कहा, कांग्रेस ने सिर्फ 5 साल में छत्तीसगढ़ की जो हालत की है उसे पूरा देश देख रहा है. इनके विधायकों और मंत्रियों ने जो कारनामे किए हैं उससे हर कोई त्रस्त है. छत्तीसगढ़ में अपराध चरम पर है. कभी-कभी लगता है कि छत्तीसगढ़ और राजस्थान में स्पर्धा चल रही है कि कहां सबसे ज्यादा हत्याएं होती है, कहां सबसे ज्यादा लूट होती है, कहां सबसे ज्यादा महिलाओं पर अत्याचार होते हैं.

पीएम ने और क्या कहा…

– आज यहां बहुत बड़े और देश के आधुनिकतम स्टील कारखाने का लोकार्पण हुआ है. इतना बड़ा कार्यक्रम अभी हुआ है, लेकिन छत्तीसगढ़ कांग्रेस के ना तो मुख्यमंत्री आए, ना ही उपमुख्यमंत्री आए. यहां तक कांग्रेस के एक भी मंत्री कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए. इसके दो कारण हैं. पहला, उनको सरकार जाने की इतनी चिंता है कि वह सरकार बचाने में लगे हैं. दूसरा, ये मोदी है और कोई आकंठ भ्रष्टाचारी मोदी से आंख नहीं मिला सकता है, इसलिए वो आने से डरते हैं, भाग जाते हैं.- बस्तर का स्टील प्लांट यहां के लोगों का है. मैं कांग्रेस के किसी भी नेता को इन स्टील प्लांट का दुरुपयोग नहीं करने दूंगा. ये आपका है और आपका ही रहेगा. यहां विकसित इस्पात उद्योग यहां 55,000 से अधिक लोगों को रोजगार देंगे. यहां और अधिक इस्पात उद्योग स्थापित किए जाने हैं, जिससे एक लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा. आने वाले वर्षों में देशभर से युवा रोजगार के लिए बस्तर आएंगे.

भाजपा सरकार ने एक लाख करोड़ रुपये छत्तीसगढ़ के धान किसानों को दिए हैं. छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार बनने के बाद यहां के धान किसानों का पूरा-पूरा ध्यान रखने की गांरटी देता है मोदी. कांग्रेस, छत्तीसगढ़ के धान किसानों को धान की कीमतों के नाम पर धोखा दे रही है, झूठ बोल रही है. सच्चाई ये है कि यहां के धान किसानों का दाना-दाना केंद्र सरकार खरीदती है.- बस्तर के मेरे नौजवानों इनका इरादा समझिए…झूठी बातें फैलाकर ये स्टील प्लांट हड़पना चाहते हैं. स्टील प्लांट को ये कांग्रेसी अपने बच्चों और रिश्तेदारों की तिजोरी भरने का माध्यम बनाना चाहते हैं. लेकिन मोदी ये नहीं होने देगा क्योंकि स्टील प्लांट के मालिक बस्तर के लोग हैं. मैं किसी कांग्रेसी को इस प्लांट का मालिक नहीं बनने दूंगा.

बता दें कि बिहार की महागठबंधन सरकार ने जातिगत जनगणना के आंकड़े जारी किए हैं. इसमें ओबीसी की सबसे ज्यादा आबादी बताई है. इस पर सियासत भी गरमा गई है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक्स पर पोस्ट किया और कहा, बिहार की जातिगत जनगणना से पता चला है कि वहां OBC + SC + ST 84% हैं. केंद्र सरकार के 90 सचिवों में सिर्फ 3 OBC हैं, जो भारत का मात्र 5% बजट संभालते हैं. इसलिए, भारत के जातिगत आंकड़े जानना जरूरी है. जितनी आबादी, उतना हक- ये हमारा प्रण है.’निजीकरण पर कुछ नहीं बोले पीएम मोदी’वहीं, पीएम मोदी के हमले पर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल का जवाब आया है. बघेल ने एक्स पर पोस्ट किया और कहा, बस्तर के लोगों का दबाव काम आया. प्रधानमंत्री को कहना पड़ा कि नगरनार स्टील प्लांट बस्तर के आदिवासियों का है. हालांकि उन्होंने यह अभी भी नहीं कहा है कि इसका निजीकरण नहीं होगा. कांग्रेस नगरनार को बेचने के खिलाफ है और रहेगी. अगर वह बस्तर के लोगों का है तो बस्तर के लोगों का ही रहना चाहिए

Read More News Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *