SHOWMANSHIP

विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि अमेरिका भारत के रुख को समझे क्योंकि कनाडा और भारत दोनों के साथ अमेरिका के अच्छे संबंध हैं।

भारत और कनाडा विवाद पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक बार फिर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने जो आरोप लगाए हैं वो निराधार हैं। शुक्रवार को वाशिंगटन डीसी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए एस जयशंकर ने कहा कि कनाडा में चल रही स्थिति को सामान्य नहीं माना जाना चाहिए, और वहां जो हो रहा है उस पर ध्यान आकर्षित करना महत्वपूर्ण है। विदेश मंत्री ने इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) जेक सुलिवन और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के साथ भारत-कनाडा राजनयिक विवाद पर चर्चा की.

विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा है कि कनाडा के साथ जारी समस्यात आतंकवाद, उग्रवाद और हिंसा को अनुमति देने के उसके रवैये को लेकर है और इसी वजह से खालिस्ता न का मुद्दा फिर उभरा है। अमेरिका की पांच दिन की यात्रा के अंतिम दिन कल वाशिंगटन डीसी में संवाददाता सम्मेालन में उन्होंने कहा कि कनाडा के साथ तनाव का कारण हिंसा और उग्रवाद की घटनाओं पर उसकी ओर से कोई कार्रवाई नहीं होना है। विदेश मंत्री ने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि अमेरिका, भारत के इस रुख को समझे क्योंकि कनाडा और भारत दोनों के साथ अमेरिका के अच्छे संबंध हैं।

(@showmanship.in)

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मतलब हिंसा को बढ़ावा देना नहीं- जयशंकर

जयशंकर ने कनाडा में भारतवंशियों और भारतीय दूतावासों के खिलाफ हो रहे हमले और हिंसा की घटनाओं का जिक्र करते हुए पूछा कि अगर ऐसी स्थिति किसी अन्य देश के साथ हुई होती तो उस पर क्या प्रतिक्रिया होती। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मतलब हिंसा को बढ़ावा देना नहीं है।

एस जयशंकर ने कहा, ”हमारा कहना है कि आज हिंसा का माहौल है, डराने-धमकाने का माहौल है, जरा इसके बारे में सोचें। उन्होंने मिशन पर स्मोक बम फेंके हैं। हमारे वाणिज्य दूतावास हैं, उनके सामने हिंसा। व्यक्तियों को निशाना बनाया गया और डराया गया। लोगों के बारे में पोस्टर लगाए गए हैं। क्या आप इसे सामान्य मानते हैं?”

उन्होंने आगे कहा, “हमारा कहना यह है, कोई व्यक्तिगत घटना हो सकती है। अगर कोई घटना होती है, कोई जांच और आरोप होते हैं तो आप जानते हैं कि इसमें प्रक्रियाएं शामिल हैं। कोई भी उस पर विवाद नहीं कर रहा है लेकिन वहां है अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, धमकी देने और राजनयिकों को डराने की स्वतंत्रता। मुझे नहीं लगता कि यह स्वीकार्य है।”

भारत-कनाडा विवाद

हाल ही में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने आरोप लगाया था कि खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत की संलिप्तता है। हालांकि, भारत ने इन दावों को सिरे से खारिज कर दिया है और इसे बेतुका और प्रेरित बताया है। कनाडा ने अब तक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के दावे का समर्थन करने के लिए कोई सार्वजनिक सबूत उपलब्ध नहीं कराया है।

Read More News Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *