SHOWMANSHIP

पुतिन ने कहा कि जो देश इन पश्चिमी अमीरों की आंख मूंदकर बात मानने को तैयार नहीं है उसे ये लोग दुश्मन की तरह पेश करते हैं। एक बार तो उन्होंने भारत के साथ भी ऐसा ही करने की कोशिश की।

रूस और यूक्रेन के बीच पिछले डेढ़ साल से युद्ध जारी है। इस युद्ध के बीच पश्चिमी देशों ने भारत पर रूस की आलोचना करने के लिए खूब दबाव डाला। हालांकि भारत ने अपनी गुट निरपेक्ष वाली नीति को आपनाए रखा। खुद रूसी राष्ट्रपति भी इस बात के लिए भारत के मुरीद हैं। भारत की प्रशंसा करते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि भारतीय नेतृत्व “अपने फैसलों पर चलता” है और देश के राष्ट्रीय हितों को ध्यान में रखता है। रॉयटर्स के अनुसार, एक कार्यक्रम में बोलते हुए, पुतिन ने आरोप लगाया

पुतिन ने कहा, “जो देश इन पश्चिमी अमीरों की आंख मूंदकर बात मानने को तैयार नहीं है उसे ये लोग दुश्मन की तरह पेश करते हैं। एक बार तो उन्होंने भारत के साथ भी ऐसा ही करने की कोशिश की। बेशक, वे (अब) फ्लर्ट कर रहे हैं। इस बात को हम सभी भली-भांति समझते हैं। हम एशिया की स्थिति को महसूस करते हैं और देखते हैं। सबकुछ स्पष्ट दिखता है। में कहना चाहता हूं कि भारतीय नेतृत्व स्व- निर्देशित है। इसका नेतृत्व राष्ट्रीय हितों को ध्यान में रखता है। मुझे लगता है कि (दुश्मन के तौर पर पेश करने के) प्रयासों का कोई मतलब नहीं है। लेकिन, वे ऐसा करना जारी रखे हुए हैं। वे अरब देशों को दुश्मन के रूप में पेश करने की कोशिश कर रहे हैं। वे सावधान रहने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन कुल मिलाकर, सब कुछ यहीं तक सीमित है। “

पुतिन ने भारत को एक “शक्तिशाली देश” कहते हुए कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में और • मजबूत हो रहा है… भारत, 1.5 अरब से अधिक जनसंख्या, 7 प्रतिशत से अधिक आर्थिक विकास… यह एक शक्तिशाली देश है, बेहद शक्तिशाली देश है। यह प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में और अधिक मजबूत हो रहा है।” आरटी की रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले बुधवार को पुतिन ने पीएम मोदी को “बहुत बुद्धिमान व्यक्ति” कहा था और कहा था कि उनके नेतृत्व में भारत विकास में काफी प्रगति कर रहा है।

पिछले महीने भी उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा था कि वह मेक इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए सही काम कर रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से पुतिन ने कहा, “हमारे प्रधानमंत्री मोदी के साथ बहुत अच्छे राजनीतिक संबंध हैं, वह बहुत बुद्धिमान व्यक्ति हैं। और उनके नेतृत्व में भारत विकास में बहुत बड़ी प्रगति कर रहा है। यह इस एजेंडे पर काम करने के लिए भारत और रूस दोनों के हित को पूरी तरह से पूरा करता है।”

Read More News Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *