SHOWMANSHIP

बरेली के सभी सरकारी स्कूलों में स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना एक ऐतिहासिक फैसला है। इससे छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी। स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना से बरेली के छात्रों का भविष्य उज्ज्वल होगा।

बरेली: उत्तर प्रदेश में पहली बार, बरेली के सभी सरकारी स्कूलों में स्मार्ट कक्षाओं तक पहुंच होगी। यह घोषणा जिलाधिकारी नितिन बंसल ने बुधवार को की। उन्होंने कहा कि स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना के लिए सरकार ने 100 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।

बंसल ने बताया कि स्मार्ट कक्षाओं में इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटर, स्मार्ट बोर्ड और अन्य डिजिटल उपकरण होंगे। इससे छात्रों को आधुनिक शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना से छात्रों की रुचि पढ़ाई में बढ़ेगी और उनका शैक्षिक प्रदर्शन भी सुधरेगा।

बरेली के शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना का काम जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्मार्ट कक्षाएं पहले चरण में बरेली के 100 सरकारी स्कूलों में स्थापित की जाएंगी। शेष स्कूलों में स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना दूसरे चरण में की जाएगी।

बरेली के शिक्षाविदों और अभिभावकों ने स्मार्ट कक्षाओं की स्थापना के फैसले का स्वागत किया है। उनका कहना है कि इससे छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

स्मार्ट कक्षाओं के लाभ

स्मार्ट कक्षाएं छात्रों को आधुनिक शिक्षा प्राप्त करने में मदद करती हैं। इससे छात्रों की रुचि पढ़ाई में बढ़ती है और उनका शैक्षिक प्रदर्शन भी सुधरता है। स्मार्ट कक्षाओं में छात्रों को इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटर और स्मार्ट बोर्ड के माध्यम से पढ़ाई कराई जाती है। इससे छात्रों को जटिल विषयों को आसानी से समझने में मदद मिलती है।

स्मार्ट कक्षाओं में छात्रों को विभिन्न प्रकार की गतिविधियों में भाग लेने का अवसर भी मिलता है। इससे छात्रों के सर्वांगीण विकास में मदद मिलती है। स्मार्ट कक्षाओं में छात्रों को रचनात्मकता और नवाचार को भी बढ़ावा दिया जाता है।

Read More News Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *