SHOWMANSHIP

IMF ने अपनी विश्व आर्थिक आउटलुक (World Economic Outlook) रिपोर्ट में कहा है कि भारत की GDP वृद्धि मजबूत घरेलू मांग और निवेश से प्रेरित होगी।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भारत के 2023 के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) वृद्धि पूर्वानुमान को 6.3% तक बढ़ा दिया है, जबकि चीन के पूर्वानुमान को घटाकर 5.2% कर दिया है। यह पहली बार है जब IMF ने भारत के GDP वृद्धि पूर्वानुमान को चीन से ऊपर रखा है।

https://www.instagram.com/showmanship.in/

IMF ने अपनी विश्व आर्थिक आउटलुक (World Economic Outlook) रिपोर्ट में कहा है कि भारत की GDP वृद्धि मजबूत घरेलू मांग और निवेश से प्रेरित होगी। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत के निर्यात में मजबूती आने की संभावना है, क्योंकि वैश्विक अर्थव्यवस्था में धीमी वृद्धि के बावजूद भी भारत के व्यापारिक साझेदार देशों में वृद्धि जारी रहने की उम्मीद है।

चीन के GDP वृद्धि पूर्वानुमान को कम करने के बारे में IMF ने कहा है कि चीन की अर्थव्यवस्था को कोविड-19 महामारी, संपत्ति क्षेत्र में संकट और वैश्विक मंदी के कारण चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

IMF ने यह भी कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में धीमी वृद्धि की उम्मीद है, क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण आपूर्ति-शृंखला में व्यवधान जारी है और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण ऊर्जा और खाद्य कीमतें बढ़ी हैं।

IMF ने कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में धीमी वृद्धि के बावजूद भी भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत बनी रहने की उम्मीद है। भारत की युवा आबादी और घरेलू मांग में मजबूती भारत की अर्थव्यवस्था को वैश्विक मंदी से बचाए रखेंगे।

Read More News Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *