SHOWMANSHIP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को गुजरात के केवडिया में स्टेट ऑफ यूनिटी का दौरा किया, जहां उन्होंने देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पण की।
प्रधान मंत्री मोदी जी ने राष्ट्रीय एकता दिवस के इस शुभ अवसर पर सरदार पटेल की प्रतिमा पर पहले जलाभिषेक किया और पुष्पांजलि अर्पित की. उसके बाद के एक कार्यक्रम में, प्रधान मंत्री ने एकता नगर में लोगो को राष्ट्रीय एकता दिवस की शपथ दिलाई। 15 जनवरी हमारे देश की आजादी के जश्न का दिन है और 26 जनवरी हमारे गणतंत्र का, 31 अक्टूबर “राष्ट्रवाद के संचार का पर्व” बन गया है।

वह ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ या राष्ट्रीय एकता दिवस की ओर संबोधित कर रहे थे इस सुनहरे अवसर पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह और कई महान व्यक्तियों ने भी सरदार वल्लभभाई पटेल को पुष्पांजलि अर्पित की। राजधानी के पटेल चौक पर आयोजित एक विशेष समारोह में राष्ट्रपति, धनखड़ और अन्य लोगों ने भारत के पहले गृह मंत्री की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित की।
पटेल की स्मृति में एक कार्यक्रम में शामिल हुए ने सभी नागरिकों से 2047 तक देश को विभिन्य क्षेत्रों में दुनिया में शीर्ष स्थान पर लाने का संकल्प लेने का आग्रह शाह ने किया, जब वह अपनी स्वतंत्रता की शताब्दी मनाएगा।


राष्ट्रीय राजधानी के मेजर ध्यानचंद राष्ट्रीय स्टेडियम से शुरू हुई ‘रन फॉर यूनिटी’ में खेल हस्तियों, खेल प्रेमियों और सेंटर पुलिस बलों के कर्मियों सहित 7,700 से अधिक लोगों ने भाग लिया।इस कार्यक्रम में केंद्र मंत्री अनुराग ठाकुर, मीनाक्षी लेखी, नित्यानंद राय, अजय कुमार मिश्रा, निसिथ प्रमाणिक, दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना और अन्य शरीक हुए।

Read More: Click Here


सरदार पटेल का जन्म 31 अक्टूबर, 1875 को गुजरात के नडियाद में हुआ था। देश के पहले गृह मंत्री और उप प्रधान मंत्री होने के नाते, पटेल को 550 से अधिक रियासतों के भारत संघ में विलय का श्रेय दिया जाता है। फेस्टिवल के हिस्से के रूप में, भारत को एकसाथ रखने में सरदार पटेल के किए हुए योगदान को याद करते हुए, देश भर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *