SHOWMANSHIP

ऑस्ट्रेलिया  की टीम ने बेहद शानदार  प्रदर्शन करते हुए टूर्नामेंट के मेजबान भारत को फाइनल में हराया, ऑस्ट्रेलिया द्वारा अपने शुरुआत के लगातार दो मैच हारने के बाद नौ जीत का उल्लेखनीय अनुक्रम पूर्ण किया।उस मिशन पर एक बार देखे तो निर्णायक रूप से ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में गया, क्योंकि विश्व टेस्ट चैंपियंस ने 2023 के लिए अपनी ट्रॉफी में क्रिकेट विश्व कप का खिताब अपने नाम किया ।

यह उनका संकल्प  है – जिसे उनोहोने लगभग बिना किसी असफलता के निभाया हैं। प्रशंसक इस पल को देखने प्राय  ऐसा करते पाया है। ऐसा इसलिए क्योंकि विश्व कप में अक्सर चंद टीमें ही हैं जो ऑस्ट्रेलिया या उनके बराबर की  जीत को  हासिल करने की क्षमता रखती  हैं।

उन्होंने अपना यदि विश्व कप 1987 (भारत) में जीता और फिर 1999 (इंग्लैंड), 2003 (दक्षिण अफ्रीका), 2007 (वेस्टइंडीज), २०१५ में  (ऑस्ट्रेलिया) और अब, 2023 (फिर से भारत) में खिताब को जीता । इस टीम का ऐसा रिकॉर्ड है जो दुनिया भर में जीत हासिल करती है और वे ऐसा करते हैं, जैसा कि स्टीव स्मिथ ने रविवार रात को कहा, “ऑस्ट्रेलिया अकसर  पर उन पैमाने  में अच्छा खेलता है।”2023 मेन्स क्रिकेट विश्व कप टूर्नामेंट का यह पहला संस्करण है जिसे 2007 के बाद से किसी मेजबान देश के द्वारा  नहीं जीता गया  है। कोई यह कारण दे सकता है कि हालात वैसी  नहीं थीं जैसी ऑस्ट्रेलिया आमतौर पर  अच्छा मानता  है। लेकिन धीमे से विकेट पर, उन्हें एक रास्ता मिल गया, जैसा कि वह  लगभग हमेशा करते थे। 

इसके अलावा, एक ऑस्ट्रेलियाई टीम जिसने अभियान की आगाज दो हार और ऐसी कुछ भविष्यवाणियों के साथ की थी, ने मैच में अपनी ऐतिहासिक वंशावली की याद दिला दी। कमिंस ने बढ़िया  ढंग से अपनी टीम की सहयता से भारत को 50 ओवरों में 240 रनों पर समेट दिया, इससे पहले ट्रैविस हेड की 120 गेंदों में 137 रनों की खतरनाक पारी ने छह विकेट की विख्यात जीत अपने नाम की।

Read More: Click Here

इस वर्ष  विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप जीतने वाले और एशेज बरकरार रखने वाले कप्तान कमिंस ने कहा, “यह बहुत ख़ुशी की बात है, यह क्रिकेट में टॉप पर है  है, विश्व कप को जीतना,मुख्य रूप से  यहां भारत में आकर ।” “ये वे पल हैं जिन्हें आप हमेशा  याद रखते हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *