SHOWMANSHIP

पिछले सफ्ताह में रेल यात्रियों से जुडी हुई एक खबर सामने आ रही है। किसी ने एजेंसी की तरफ से तो किसी ने रेल मंत्रालय के करीबी सूत्रों की तरफ से आई है बताया जा रहा की आने वाले कुछ सालो में रेल टिकट में वेटिंग की समस्या खतम हो जाएगी। इस खबर को रेल मंत्री के एक भाषण से निकाला गया है। दूसरी और रेल मंत्री वैष्ण्बी का कहना है की आने वाले चार से पांच सालो में रेल में यात्रा करने की क्षमता 1000 करोड़ यात्रियों को यात्रा करने योग्य बनानी होगी तो इसके लिए लगभग 3000 ट्रेनों की आवश्यकता होगी। अगर हम आंकड़ों के हिसाब से सोचे तो 2015 से लेकर 2022 तक सिर्फ 2132 इंजन ही बन पाए हैं और रेलकोचो की क्रम भी ज़्यदा नई सिर्फ 5000 ही है। रेल मंत्री का कहना है की अगर इस तरीके से तो 3000 ट्रेनें तो किसी हालत में नहीं बन पाएंगी

क्या सम्वभ है पांच सालो में तीन हजार ट्रेने बना पाना

रेल मंत्री अशनवी जी का कहना है की हमारा प्लान अगले आने वाले चार से पांच सालो में 3000 गाड़ियां चलाना है पर जिस हिसाब से पिछले सालो में लोकोमोटिव्स की संख्या निरंतर बढ़ रही है उस हिसाब से हम अंदाजा लगा सकते हैं की ये कर पाना सम्वभ होगा की नहीं।

बुलेट ट्रेन में देरी

साल 2017 के 14 सितम्बर को भारत और जापान के प्रधानमंत्रियों ने मुंबई और अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन को चलाने योजना का शिलान्यास भी किया था पीआईबी के अनुसार इसको दिसंबर 2023 तक कम्पलीट करना है , पर अभी तक जून 2023 तक तो जमीन का हे अधिग्रण नई पूरा हो पाया था |

Read More: Click Here

वन्दे भारत का वादा

इसके साथ ही प्रधान मंत्री मोदी ने 15 अगस्त 2021 को लाल किले के भाषण में कहा था की आने वाले हफ्तों में 75
वन्दे भारत ट्रेने हर देश के कोने को आपस में जोड़ेगी मगर 24 दिसंबर 2023 तक सिर्फ 34 ट्रेनें ही चल पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *