SHOWMANSHIP

संसद के सुरक्षा को तोड़ अंदर जाने वाले युवको के पीछे कोई और है मास्टरमाइंड

संसद की सुरक्षा घेरे चारो आरोपियों को पकड़ लिया गया है और उन पर UAPA लगा दी गयी है , जानकारी के लिए बता दें दिल्ली के स्पेशल सेल ने आरोपियों का स्टडी बैकग्राउंड चेक किया है और अब पुलिस ये भी चेक करेगी की इससे पहले भी इन्होने इस तरह के विरोध प्रदर्शनो में हिस्सा लिया है या नहीं या कभी संसद गए हैं। इसके साथ साथ इनके सोशल मीडिया पर क्या एक्टिविटी है सब चीजों पर ध्यान दिया जाएगा।

ANI न्यूज़ चैनल ने पुख्ता किया की संसद में निशाना लगाने वाले असली साजिशकर्ता कोई और ही हैं। इस घटना को अंजाम देने के लिए साजिशकर्ताओं ने अंदर जाने से पहले बहार भी रैली का इंतजाम किया और फिर 2 युवको को अंदर भेजा गया। और पुलिस की जाँच के मुताबिक जो आरोपी पड़के गए है वह भगत सिंह फैन क्लब से जुड़े हुए सोशल मीडिया के द्वारा। कुछ सूत्रों ने बताया की चारो लोग करीब डेढ़ साल पहले मैसूर में मिले थे और फिर सागर जुलाई में दिल्ली आया था और उस समय संसद में प्रवेश नहीं कर स्का था फिर 10 दिसंबर को और धीरे धीरे और लोग भी दिल्ली के इंडिया गेट के पास आने लगे संसद के बाहर इनको रंग भरे पटाके दिए गए।

कितने लोगो का था प्लान और कौन से मामलो में केस दर्ज हुआ


तो जानकारी के मुताबिक इस घटना के लिए लगभग 6 लोग शामिल थे जिसमे से चार लोगो के नाम इस प्रकार से हैं सागर , अनमोल दी, नीलम आजाद और अमोल। इन चारो को पुलिस ने संसद के अंदर और बाहर से पकड़ लिया तो एक बंदे को गुरुग्राम में ही उसके घर में पकड़ा। अब ललित झा नाम के शख्स की तलाश जारी है।

Read More: Click Here

इन चारो आरोपियों को UAPA की तहत धारा 16 और 18 के तहत मामला दर्ज हुआ इसके अलावा IPC की धारा 120B (आपराधिक साजिश ) 452 (ट्रेसपास), 153 (दंगा भड़काने के इरादे से उकसाना ) 186 और 353 के तहत मामला दर्ज हुआ है। पुलिस ने बताया है की जल्द ही छठे शख्स को भी पकड़ लिया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *